बड़ी खबर: SBI जल्द ही ATM/ डेबिट कार्ड को प्रचलन से बाहर करने जा रहा है - Gazab Post Hindi

बड़ी खबर: SBI जल्द ही ATM/ डेबिट कार्ड को प्रचलन से बाहर करने जा रहा है

अभी अभी एक बड़ी खबर आ रही है कि एसबीआई जल्द ही डेबिट कार्ड को प्रचलन से बाहर कर सकता है. जिसके बाद डेबिट कार्ड पूरी तरह से काम करना बंद कर देंगे. हालांकि इस बात के संकेत काफी पहले से मिल रहे थे. और मीडिया में कुछ महीनों पहले इस तरह की न्यूज़ भी चल रही थी, कि जल्द ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया डेबिट कार्ड सुविधा को पूरी तरह से बंद कर सकता है.

दोस्तों अगर ऐसा हुआ तो एसबीआई के ग्राहकों के डेबिट कार्ड पूरी तरह से बेकार हो जाएंगे और लाखों लोगों के सामने कैश रकम निकालने के लिए एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया डेबिट कार्ड के इस्तेमाल को बंद करने की योजना काफी समय पहले से बना रहा है.

देश की सबसे बड़ी न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के हवाले से खबर आ रही है, जिसके मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन ‘रजनीश कुमार’ ने एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि ‘स्टेट बैंक’ डेबिट कार्ड को प्रचालन से बाहर करना चाहता है, और इस बात को लेकर पूरी तरह आश्वस्त भी हैं, कि इसको समाप्त किया जा सकता है.

अब एसबीआई के ग्राहकों को डेबिट कार्ड बंद हो जाने के बाद लोगों को इसका ‘डिजिटल समाधान’ पेश किया जाएगा, जिसके तहत SBI के ग्राहक अपने स्मार्टफोन का उपयोग करके लेनदेन कर सकेंगे, और इसके ज़रिये वो सामान भी खरीद सकते हैं. यहां तक कि एटीएम मशीनों से इसके जरिए वह नगदी रकम भी निकाल सकते हैं.

दोस्तों यह सब कुछ होगा एक मोबाइल ऐप के जरिए जिसका नाम है ‘योनो एप’. दरअसल एसबीआई देश को डेबिट कार्ड मुक्त बनाने की योजना बना रहा है, क्योंकि एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार के मुताबिक फिलहाल देश में एसबीआई के लगभग 90 करोड से भी ज्यादा डेबिट कार्ड और तीन करोड़ से भी ज्यादा क्रेडिट कार्ड धारक हैं.

उन्होंने बताया कि बैंक इसकी तैयारी कर चुका है और SBI देशभर में 68,000 ‘योनो कैशपॉइंट’ की स्थापना कर चूका है. आपको बता दें कि योनो एप को नवंबर 2017 में लांच किया गया था और फरवरी 2019 तक योनो एप को लगभग 1.6 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है.

वर्तमान में इसके 70 लाख से भी ज़्यादा सक्रिय यूजर हैं, अगर हम एसबीआई के ग्राहकों की बात करें तो वह वर्तमान में 40 करोड़ से भी ज़्यादा हैं जो ऑनलाइन लेन देन करते हैं.

अब सवाल यह उठता है कि डेबिट कार्ड एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल कम पढ़ा लिखा व्यक्ति भी एक बार समझाने पर कर सकता है. अगर एसबीआई डेबिट कार्ड को बंद कर देता है तो हो सकता है कि अधिकतर लोगों के सामने एंड्रॉयड फोन खरीदने का झंझट, इंटरनेट कनेक्शन और उसके बाद फिर इस ऐप को चलाना सीखना पड़ेगा जो शायद हर किसी व्यक्ति के लिए आज के दौर में थोड़ा मुश्किल काम है.

क्योंकि देश में अभी भी ऐसे लोगों की बहुत बड़ी संख्या है जिनको ठीक तरह से अपना नाम तक लिखना नहीं आता, वो बैंक से पैसा निकालने या जमा करवाने के लिए दूसरे लोगों से पर्ची भरवाने के लिए गुहार लगाते फिरते हैं.

और ऐसे पढ़े लिखे लोगों की संख्या भी बहुत है जिनको अभी तक ठीक से स्मार्टफोन तक चलाना नहीं आता, वो लोग इन्टरनेट पर ऑनलाइन बैंकिंग या स्मार्टफ़ोन के ज़रिये डिजिटल ट्रांजैक्शन क्या कर पाएंगे.

Leave a Comment