मोदी सरकार देने जा रही है, आपकी बेटी की शादी और पढ़ाई के लिए 6 लाख रुपए तक की मदद - Gazab Post Hindi

मोदी सरकार देने जा रही है, आपकी बेटी की शादी और पढ़ाई के लिए 6 लाख रुपए तक की मदद

दोस्तों हमारे यहां भारत देश में शादी ब्याह के मौकों पर लोगों में अपनी हैसियत से बढ़कर खर्च करने का चलन रहा है, चाहे वह लड़के की शादी हो या फिर लड़की की, लड़के की शादी में भरपूर दहेज मिल जाता है इस तरह की मानसिकता रखकर लोग लड़के की शादी को बोझ नहीं समझते.

मगर जिसके घर में बेटियां हो उसके बाप पर शादी के समय आर्थिक संकट मंडराने लगता है, बेटियों की शादी के समय उनके बाप पर आर्थिक संकट ना आए और, अच्छी तरह से उसकी बेटी की शादी हो सके इसके लिए भारत सरकार ने एक योजना शुरू की है, जिसके तहत लड़की की शादी के समय कम से कम ₹6 लाख रूपये मिलने का प्रावधान है.

अगर आपके यहां भी बेटी है तो अब आपको उसके भविष्य को लेकर चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, बस इस वीडियो को आखरी तक पूरा देखिए और इस योजना को अच्छी तरह से समझ लीजिए. जिससे कि आपकी बेटी का आने वाला भविष्य सुखमाय बन सके, और आपकी जेब के ऊपर भी अतिरिक्त बोझ ना पड़े.

अगर आपके घर में कोई बेटी नहीं है तो मेहरबानी करके इस वीडियो को अपने उन दोस्तों और परिजनों तक जरूर भेजिए जिनके घर में बेटियां हैं. दोस्तों सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा चलाई गई इस योजना के बारे में शायद आपने पहले सुन भी रखा हो.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा देश की बेटियों के हित के लिए जिस योजना को की शुरुआत की गई उसका नाम है ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ केंद्र सरकार का इस योजना को लाने का सिर्फ और सिर्फ एकमात्र उद्देश्य है.

भारतीय बेटियों को उनके पैरों पर खड़ा करना, और एक बेटी की शादी के समय उसके पिता पर आर्थिक जरूरत का थोड़ा बोझ कम करना. इस योजना की एक ख़ास बात और आपको बता दें कि ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ गारंटी के साथ टैक्स फ्री रिटर्न देने वाली एक बेहतरीन इन्वेस्टमेंट योजना है.

यह ऐसे परिवारों के लिए बहुत ही ज़्यादा मददगार साबित होगी, जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. आपको बता दें कि आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण, अधिकतर सामान्य या गरीब परिवारों की बेटियां पढ़ाई से वंचित रह जाती हैं, और इस वजह से उनमें जो हुनर और प्रतिभाएं होती हैं वह दबकर रह जाती हैं, और वह अपने सपनों को कभी भी साकार नहीं कर पातीं.

इसके अलावा उनकी शादी के वक्त भी, आर्थिक हालातों को देखते हुए कई बार ठीक से रिश्ते भी नहीं हो पाते और ऐसे में वह कहीं भी आनन-फानन में ब्याह दी जाती हैं. इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने देश में सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है.

अब तो इस योजना के तहत कई बेटियों को वित्तीय सहायता भी मिल चुकी है. क्योंकि यह योजना 2014 में ही नरेन्द्र मोदी की सरकार बनते ही शुरू कर दी गयी थी.

तो सबसे पहले जान लेते हैं कि इस योजना के लिए क्या पात्रता हैं, और यह लाभ किन लोगों को मिल सकता है.

दोस्तों सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकतम केवल दो बेटियों को लाभ दिया जा सकता है, जैसे कि अगर एक पिता की एक या दो या उससे भी अधिक बेटियां हों तो वह इस योजना के तहत केवल दो बेटियों का ही खाता खोल सकता है.

और दूसरी सबसे बड़ी बात यह है कि इस योजना के अंतर्गत जीरो से लेकर 10 साल तक की उम्र की बेटी का ही खाता खोला जा सकता है.

मतलब आपकी बेटी की उम्र 0 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक होनी चाहिए तभी आप इस योजना का लाभ ले पाएंगे, इससे ऊपर नहीं.

अब बात आती है सुकन्या समृद्धि योजना के लिए पात्रता की,

इस योजना का भारत में रहने वाला प्रत्येक नागरिक, चाहे वह किसी भी समुदाय का हो लाभ ले सकता है.

ऐसी बालिकाएं भी जिनका जन्म भारत में हुआ है, लेकिन वह किसी कारणवश विदेश में हो, उसके लिए भारत का मूल निवासी होना आवश्यक है, लेकिन एन आर आई के लिए इस योजना का लाभ नहीं मिल सकता है और विदेशों में रहने वाले भारतीय लोग भी इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.

और एक खास बात ऐसी जुड़वा बेटियां जिनकी उम्र 10 वर्ष से कम हो तो उन दोनों को भी इसका अलग-अलग लाभ मिलेगा यानी कि फिर उसकी तीन बेटियों को लाभ मिल सकता है यानी एक बेटी को सीधा लाभ मिलेगा और जो जुड़वा बेटियां हैं उन दोनों जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन लाभ उनको अलग अलग दिया जाएगा एक लड़की के नाम से एक ही अकाउंट खोला जा सकता है.

और इस योजना के तहत उसके माता-पिता या कन्या का कोई रिश्तेदार या दूसरा कोई भी कानूनी मान्यता प्राप्त अभिभावक खता खोल सकता है, और वह दो से ज्यादा खाते नहीं खोल सकता. इस योजना का लाभ लेने के लिए बालिका के नाम का खाता पोस्ट ऑफिस या फिर अन्य किसी बैंक में होना जरूरी है.

जब इस योजना को शुरू किया गया तब सिर्फ पोस्ट ऑफिस में ही खाता खोला जाता था, लेकिन अब ऐसा नहीं है अब आप इस योजना का लाभ लेने के लिए किसी भी पोस्ट ऑफिस अथवा अन्य सरकारी और गैर सरकारी कमर्शियल बैंक की ब्रांच में भी खाता खोल सकते हैं.

जैसे एसबीआई, आईसीआई, एक्सिस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईडीबीआई बैंक, देना बैंक, यस बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया इस तरह से कई और भी बैंक.

इस योजना की अवधि आपकी बेटी के 21 साल पूरे होने तक है, यानि आपने अपनी बेटी का खाता 0 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक के बीच में कभी भी खोला हो, आपकी बेटी की उम्र 21 साल होते ही, इस योजना के तहत यह खाता मैच्योर यानी कि परिपक्व हो जाता है और ब्याज सहित पूरी रकम उसके माता-पिता या पालक को दे दी जाती है.

इसमें एक बात और भी है, अगर आपकी बेटी की शादी 18 वर्ष के बाद से 21 वर्ष तक के बीच में कभी भी करते हैं, तब भी इस योजना में मिलने वाली पूरी रकम, ब्याज सहित निकाली जा सकती है. और इस रकम को बेटी की शादी के काम में लिया जा सकता है.

और सुकन्या समृध्धि योजना का यह खाता आपके रकम निकालने के साथ ही या फिर आपकी बेटी की उम्र 21 साल पूरा होने के बाद अपने आप बंद हो जाएगा.

सुकन्या समृद्धि योजना का खाता कैसे खोलें

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से एक साल में 1 हजार से लेकर 1 लाख पचास हजार रुपए तक जमा किये जा सकते हैं| यह राशि आपको खाता खुलवाने के 14 साल तक ही जमा करना होगी|

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने के लिए आपको सबसे पहले अपनी बेटी के नाम का किसी पोस्ट ऑफिस या इस योजना से संबंधित अनुबंधित बैंक में खाता खोलना होता है.

फिर आपको इस ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ का एक फार्म भरना होगा, जो आपको किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक में मिल जाएगा. जब आपकी बेटी के नाम का खाता खुल जाता है, जिसके बाद आपको इस अकाउंट में 250 रुपए हर महीने पूरे 14 साल तक जमा करने होंगे.

हालांकि यह रकम पहले 1,000 प्रति माह थी, जिसको नए नियम के मुताबिक वर्ष 2019 में सिर्फ ₹250 ही रखा गया है. फिर इसके बाद जब आपकी बेटी की उम्र 21 साल की हो जायेगी तब भारत सरकार ब्याज सहित 6 लाख रुपए आपको दे देगी.

सुकन्या सम्रद्धि योजना Documents

इस योजना (SSY) के लिए, खाता खुलवाने हेतु इन डाक्यूमेंट्स (दस्तावेजों) कि जरुरत पड़ेगी|

  • आवेदनकर्ता का आधार कार्ड
  • बेटी का आधार कार्ड
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • आवेदनकर्ता का मूल निवासी प्रमाणपत्र
  • राशन कार्ड
  • चाइल्ड आईडी
  • फेमिली आईडी
  • 2 फोटो कन्या के
  • बैंक खाते की पासबुक की फोटोकॉपी, बैंक खता आधार से लिंक होना ज़रूरी है.

Leave a Comment