बायो ऑयल के फायदे, उपयोग और नुकसान – Bio Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

बायो ऑयल: त्वचा और बालों के लिए अपने रेगुलर उत्पाद की जगह पर किसी नए उत्पाद का इस्तेमाल करना काफी बड़ा कदम होता है. इस बीच कई सवाल भी मन में उठते है. कई बार देखा जाता है कि लोग जानकारी के अभाव में ऐसे उत्पादों का चयन कर देते है जो फायदा देने की जगह पर नुकसान पहुंचा देते है.

जिससे त्वचा और बालों पर साइड इफ़ेक्ट भी झेलने पड़ सकते है. ऐसे में अगर आप अपनी त्वचा के लिए बायो ऑयल इस्तेमाल करने के इच्छुक है तो यह लेख खास तौर पर आपके लिए ही हैं.

आज हम आपको बताए जा रहे है कि बायो-ऑयल के इस्तेमाल से आपको किस तरह के फायदे प्राप्त हो सके है. साथ ही बालों और त्वचा पर इसका इस्तेमाल कैसे करना है. इसके आलावा हम बायो ऑयल के संभावित नुकसानों पर भी चर्चा करेंगे.

  • बायो ऑइल कब लगाना चाहिए
  • बायो ऑइल price in India
  • स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए क्या करें?

बायो ऑयल क्या है? | What is Bio oil in Hindi

बायो ऑयल की सबसे खास बात यह होती है की यह एक तरह का नॉन-ग्रीसी तेल है यानि यह दुसरे तेलों की तरह चिपचिपा नहीं होता है. इस तेम में कई तरह के एसेंशियल ऑयल तथा विटामिन प्रचुर मात्रा में मौजूद रहते है जो त्वचा के लिए बेहद ही फायदेमंद साबित होते है.

Bio oil benefits in Hindi

इसमें विटामिन-ए और विटामिन-ई की मौजूदगी रहती है. वहीं इसके निर्माण में कैलेंडुला तेल (Calendula Oil), पर्सेलिन तेल (Purcellin Oil), लैवेंडर तेल (Lavender Oil) और कैमोमाइल तेल (Chamomile Oil) का मिश्रण किया जाता है.

Benefits of Bio-Oil in Hindi | बायो ऑयल के फायदे

Bio-Oil को आप एक Skin Care तेल माँ सकते हैं, लेकिन त्वचा पर अलग-अलग ज़रूरतों के हिसाब से यह काम भी अलग तरह से करता है. यहाँ नीचे हम आपको कुछ बायो ऑयल के फायदे बता रहे हैं, जो आपकी त्वचा के लिए कब और कैसे फ़ायदा पहुँचाता है.

1. झुर्रियां कम करने के लिए फायदेमंद

उम्र के साथ झुर्रियां जैसे लक्षण नजर आना सामान्य होता है. लेकिन कई बार देखा जाता है कि ऑक्सीडेटिव तनाव के चलते चेहरे पर वक्त से पहले ही बढ़ती उम्र के लक्षण दिखने लगते है. ऐसे में इन झुरियों से बचने के लिए आप बायो ऑयल का इस्तेमाल कर सकते है.

Bio oil for wrinkles

एमडीपीआई (मॉलिक्यूलर डायवर्सिटी प्रिजर्वेशन इंटरनेशनल MDPI)) नाम की एक वेबसाइट द्वारा प्रकाशित किये गए एक शोध में बायो ऑयल के एंटीऑक्सीडेंट गुणों पर विस्तार से बात कही गई है.

शोध के मुताबिक ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करके एजिंग के इफ़ेक्ट को कम करने में मददगार साबित होते है. इसी गुण के चलते कई कॉस्मेटिक कंपनियां इस तेल का उपयोग एंटी-रिंकल और एंटीएजिंग प्रोडक्ट बनाने में करती है.

2. दाग-धब्बे और मुहांसे दूर करता है

मुंहासों से छुटकारा दिलाने में भी बायो ऑयल का इस्तेमाल लाभकारी सिद्ध हो सकता है. इसके पीछे की मुख्य वजह इसमें मौजूद एसेंशियल ऑयल होता है.

बायो-ऑयल में कई अन्य तत्वों के साथ लैवेंडर, कैमोमाइल और कैलेंडुला एसेंशियल ऑयल भी मौजूद रहता है, यह तीनों ही तेल बायो तेल के गुणों में वृद्धि करते है.

कैमोमाइल तेल मुंहासों से निजात दिलाता है, जबकि लैवेंडर एसेंशियल ऑयल की मोजुदगी त्वचा से दाग-धब्बों को ह’टाती है. वहीं बायो-ऑयल में उपस्थित ओलिक और लिनोलेनिक अम्ल भी दाग-धब्बों को हल्का करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है.

3. स्ट्रेच मार्क्स में फायदेमंद

वैसे तो बायो ऑयल को कई फायदे के लिए जाना जाता है लेकिन इसका सबसे महत्वपूर्ण गुण स्ट्रेच मार्क्स को कम करना है. असल में बायो ऑयल का सबसे बड़ा इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स कम करने में ही किया जाता है.

Bio oil For Stretch Marks

ऐसा माना जाता है कि करीब 80 प्रतिशत महिलाएं अपने जीवन में कभी न कभी स्ट्रेच मार्क्स का शिकार होती ही हैं. यह मार्क्स शरीर के अलग-अलग हिस्सों में दिखाई पड़ते है, जैसे पेट, कमर, जांघ, स्तन या फिर कूल्हों के आसपास भी यह कई कारणों से नजर आने लगते हैं.

Strech Marks आने की मुख्य वजह गर्भावस्था और मोटापा को माना जाता है. एक शोध के अनुसार स्ट्रेच मार्क्स पर बायो ऑयल के सकारात्मक और प्रभावकारी असर देखने को मिले हैं. [1]

बायो-ऑयल का करीब छह से आठ हफ्तों तक इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स को कम कर सकता है. बायो ऑइल प्रेगनेंसी में कब use करना चाहिए?, इसके लिए आप किसी काबिल लेडी Specialist डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं.

4. रंगत निखारने में असरदार

बायो ऑयल का नियमित तौर से इस्तेमाल ना सिर्फ मुंहासों और झुर्रियों को कम करता है, बल्कि यह त्वचा के रंग में निखार भी लाने में मदद करता है.

इस पर कोई वैज्ञानिक शोध मौजूद नहीं हैं, यह सिर्फ लोगों के अनुभव के आधार पर माना जाता है. इसलिए पूरी विश्वसनीयता के साथ यह नहीं कह सकते है कि यह त्वचा का रंग निखारने में कितना फायदेमंद है.

5. ऑयली त्वचा के लिए फायदेमंद

बायो ऑयल की सबसे ख़ास बातों में एक यह भी है कि इसे ऑयली त्वचा पर भी इस्तेमाल; किया जा सकता है. अक्सर ही लोग सोचते है कि क्या ऑयली त्वचा के लिए बायो; ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है?.

Bio oil For Oily Skin

लोगों के अनुभव के आधार पर सामने आया है कि यह ऑयली स्किन के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि; यह एक नॉन-ग्रीसी (जो चिपचिपा न हो) तेल है. इसमें मौजूद लैवेंडर ऑयल ऑयली त्वचा से; संबंधित समस्या जैसे एक्ने से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकता है.

क्या बालों के लिए भी फायदेमंद है बायो ऑयल?

बायो ऑयल में कई एसेंशियल ऑयल की मौजूदगी होती है, जिसमें से एक लैवेंडर ऑयल भी है. लैवेंडर; तेल की उपस्थिति Bio-Oil को बालों के लिए फायदेमंद बनाती है. लैवेंडर के फायदे बालों; पर भी दिखाई देते है, यह बालों के झड़ने पर रोक लगाकर उन्हें बढ़ाने में सहायक होता है.

इसके साथ ही बायो ऑयल में विटामिन-ई की मौजूदगी भी होती है जो एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट होता है. विटामिन-ई; की मदद से यह ऑयल बालों को फ्री रेडिकल्स से बचाता है और उन्हें स्वस्थ रखने में सहायक होता हैं.

बायो ऑयल का इस्तेमाल कैसे करें? How to Use Bio Oil [Hindi]

Bio-Oil का इस्तेमाल अपनी त्वचा पर करने से पहले आपको कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना होता है, जो हम आपको नीचे बता रहे हैं.

त्वचा पर ऐसे करें बायो-ऑइल का इस्तेमाल

  • सबसे पहले आपको प्रभावित त्वचा को पानी से अच्छे से धोकर अच्छी तरह से साफ कर लेना है.
  • इसके बाद Bio-Oil की कुछ बूंदे को अपनी हथेलियों में निकाल लें
  • प्रभावित त्वचा पर हाथों को गोलाकार तरीके से घुमाते हुए मसाज करें.
  • त्वचा पर करीब 5 से 8 मिनट तक मसाज करते रहें तेल को पूरी तरह से त्वचा में समाने दें.
  • बेहतरीन रिजल्ट के लिए आप दिन में दो बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं.

बालों के लिए बायो ऑयल का उपयोग

  • बालों पर इसका इस्तेमाल करने से पहले बालों को अच्छे से शैम्पू कर लें और फिर सुखा लें
  • इसके बाद थोड़ा सा Bio-Oil अपनी हथेली में लें और इस से सिर की अच्छे से मसाज करें
  • करीब 15 से 20 मिनट तक बालों को मसाज देने के बाद शैम्पू से धो लें.
  • अगर आप चाहें तो इसे बालों पर रात भर के लिए लगा रहने दें, सुबह बाल धो लें.

बायो ऑयल के कुछ अन्य लाभ | Other Benefits Of Bio Oil

मेकअप रिमूवर

बायो ऑयल का इस्तेमाल मेकअप हटाने के लिए भी किया जाता है. इसके लिए बायो ऑयल से उंगलियों की; मदद से चेहरे पर मसाज करें. जब मेकअप चेहरे से निकल जाए तो इसे रुई की मदद से पोंछ लें;. मेकअप को ठीक से और पूरी तरह से निकालने के बाद चेहरे को फेस वॉश से धो लें.

मॉइस्चराइजर

Bio Oil मॉइस्चराइजर के तौर पर भी अच्छे रिजल्ट देता है. विटामिन-ई की मौजूदगी त्वचा को नम; बनाए रखने में मददगार होती है. इसके लिए इसे उंगलियों की सहायता से चेहरे पर मसाज करके लगा सकते हैं.

लिप बाम– Bio Oil को लिप बाम की तरह भी इस्तेमाल कर सकते है. लोगों का मानना है कि; इसमें विटामिन-ई की मौजूदगी होठों की; त्वचा को भी नम बनाए रखती है; हालांकि मौजूदा वक्त में इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है.

क्या बायो ऑयल के नुकसान भी हैं? | Side Effects of Bio Oil [Hindi]

बायो ऑयल के नुकसान (Side Effects of Bio) बताने वाले वैज्ञानिक अध्ययनों का अभाव है. इसके नुकसान; के आकलन से जुड़े ज्यादा वैज्ञानिक तथ्य मौजूद नहीं है.

लेकिन अगर किसी को एसेंशियल ऑयल से एलर्जी है तो वो इसका इस्तेमाल बिल्कुल ना करें. साथ ही ऐसे लोग; जिनकी त्वचा अतिसंवेदनशील है वो भी इसके इस्तेमाल से बच सकते है. इसके साथ ही इसके इस्तेमाल और फायदों संबंधी; अधिक जानकारी त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करके प्राप्त की जा सकती हैं.