भारतीय सेना के इतिहास में पहला मौका, पति-पत्नी की जोड़ी लेफ़्टिनेंट जनरल पद पर काम कर रही है - Gazab Post Hindi

भारतीय सेना के इतिहास में पहला मौका, पति-पत्नी की जोड़ी लेफ़्टिनेंट जनरल पद पर काम कर रही है

भारतीय सेना का इतिहास काफी गौरवशाली है, भारतीय सेना दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है. भारतीय सेना में अक्सर ही कई इतिहास रचे जाते रहे है. ऐसा ही एक अनोखा इतिहास एक पति पत्नी की जोड़ी ने रचा है. कहा जाता है कि सफ़लता के लिए सिर्फ व्यक्तिगत दक्षता काफी नहीं होती है बल्कि सामूहिक क्षमता महत्वपूर्ण है.

यह कहावत 58 वर्षीय मेजर जनरल माधुरी कानिटकर पर एक दम फिट बैठती है. मेजर जनरल माधुरी कानिटकर पुणे के Armed Forces Medical College (AFMC) की डीन है. यह देश की तीसरी महिला हैं जिन्हें लेफ़्टिनेंट जनरल का पद मिला है.

Image Source: Google

देश की तीसरी महिला लेफ़्टिनेंट का औहदा पाने वाली माधुरी कानिटकर के साथ एक और उपलब्धि जुड़ी है. इनके पति राजीव कानिटकर भी भारतीय सेना में लेफ़्टिनेंट जनरल की रैंक पर काबिज है. यह भारतीय सेना के इतिहास की पहली पति-पत्नी की जोड़ी है जो सेना में एक ही रैंक पर काम कर रहे हैं.

आपको बता दें कि माधुरी कानिटकर बच्चों के रोग विशेषज्ञ हैं. माधुरी जी का प्रोमोशन इसी साल फ़रवरी महीने में हुआ और उन्हें यह रैंक मिली लेकिन लेफ़्टिनेंट जनरल का पद साल के अंत में पद खाली होने पर मिलेगा.

Image Source: Google

पिछले 36 सालों से देश और सेना की सेवा में लगी माधुरी कानिटकर प्रधानमंत्री की वैज्ञानिक और तकनीकी सलाहकार बोर्ड (Scientific And Technical Advisory Board) की सदस्य भी हैं. इससे पहले वह 2017 में माधुरी ने AFMC की पहली महिला डीन बनने का रिकॉर्ड कायम किया था.

माधुरी कानिटकर ने बाल चिकित्सा और प्रशिक्षण बाल चिकित्सा नेफ्रोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई AIIMS से की थी. माधुरी छात्र जीवन से ही काफी लगनशील है और एक गोल्डमेडलिस्ट रही हैं. उन्होंने अपने दम पर बच्चों की किडनी से जुड़ी बिमारियों की जांच के लिए पुणे और दिल्ली में यूनिट की स्थापित कर दी.

Leave a Comment